रोबोट

रोबोट क्या है

रोबोट….., नाम लेते ही आपके मन में सबसे पहले क्या आता है? हम में से कई एक मशीनी मानव की तस्वीर सोचतें है जो धातुओं का बना होता है | हालाँकि, कई तर्क-वितर्क हुए की आखिर कौन सी विषेशताएँ एक रोबोट को परिभाषित करती है|

ज्यादातर वैज्ञानिक इस बात पर मत देतें है की रोबोट एक मशीन है जो खुद ब खुद कोई काम करने में सक्षम होती है या फिर एक शृंखलाबद्ध काम जो की इसके प्रोग्रामिंग और परिवेश पर आधारित होतें है |

रोबोट की अवधारणा नई नहीं है, ऐसिअन, ग्रीक, इजिपटीएन और रोमन इंजीनियरों के द्वारा आर्टिफिसियल मानव और जानवर बनाने के प्रयासों के दस्तावेज उपलब्ध हैं| तथापि रोबोट शब्द, एक शब्द से जिसका मतलब जबरन मज़दूरी कराना से निकाला गया| जो की १९२१ से पहले तक इस्तेमाल नहीं हुआ था फिर एक कहानी से सामने आया जो की मानव जैसे रोबोट या एन्ड्रवॉइड पर आधारित थी |

हालांकि, आधुनिक रोबोट में कई तरीके के अनगिनत कार्य करने में दक्षता हासिल होती है, लेकिन कुछ बातें है जो हर या कहें  तो अधिक से अधिक रोबोटों में एक जैसी होती है, जैसे-

समान्यतया एक रोबोट किसी न किसी विद्युत धारा के स्रोत से संचालित होता है | यह इंसानों द्वारा किसी न किसी मुख्य काम को करने के लिए प्रोग्राम किये जातें है |और इनके पास माहौल के हिसाब से प्रतिक्रिया देने की छमता होती है|

ये आखिरी पॉइंट आपको रोबोट और समान्य मशीन में अंतर स्पष्ट करता है – उदाहरण के लिए मोशन डिटेक्टर को को ले लीजिये जो की एक मोशन रोबोट है, जब आप कमरे में अंदर जातें है तो यह आपको सेंस करके स्वयं ही लाइट चालू कर देता है | अर्थात इसे अपना काम करने के लिए किसी भी इंसान की जरूरत नहीं होती जबकि एक सामन्य कम्प्यूटर एक रोबोट नहीं है क्यूंकि इसे काम करने के लिए इंसानो की आवश्यकता होती है ,की इसे क्या करना है |यद्यपि एंड्राइड आज भी कुछ हद तक कल्पित विज्ञान है |

हम हर दिन अलग तरह के रोबोट का इस्तेमाल करतें है, समान्तया ऐसे कामों में मदद के लिए जो मनुष्यों के लिए बहुत ज्यादा खतरानक और दोहराव वाले होतें है | हम रोबोटों को दूर अंतरिक्ष में दूसरे ग्रहों पर जानकारी इकठ्ठा करने के लिए घर के कामों में, हॉस्पिटल्स में डॉक्टरों की मदद के लिए, कार निर्माण में और बड़ी फैक्ट्रियों में, माइंस में यहां तक की बच्चों को पढ़ाने के लिए इस्तेमाल करतें है|

सिर्फ समय ही बताएगा की आखिर रोबोट भविष्य में इंसानों के लिए कितने फायदेमंद होंगे |


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *