हम यहाँ टीवी  वाला बिग बैंग की बात नहीं कर रहे। आज, हम आपको एक वैज्ञानिक सिद्धांत के बारे में बताने जा रहे हैं। ब्रह्मांड कैसे अस्तित्व में आया? ब्रह्मांड किसने बनाया? हम इन विचारो को अक्सर मन में लाते रहते हैं।  चलिए आज हम पता लगा ही लेते हैं की बिग बैंग है क्या चीज़। 

अधिकांश लोगों का मानना ​​है कि भगवान ने ब्रह्मांड बनाया है लेकिन यह सच नहीं है। हां, दिव्य शक्तियां मौजूद हैं लेकिन ब्रह्मांड के निर्माण के पीछे असली कारण बिग बैंग थ्योरी है।

अगर आप बिंग बैंग के बारे के पहले से जानते है तो कोई बात है आज, हम आपको बिग बैंग थ्योरी के बारे में और अधिक बताने जा रहे हैं। यहां तक ​​कि अगर आप विज्ञान के छात्र नहीं हैं, तो भी यह जानकर आपको अच्छा लगेगा  कि ब्रह्मांड कैसे अस्तित्व में आया। यह दिलचस्प है क्योंकि इसके पीछे एक वैज्ञानिक सिद्धांत है।

बिग बैंग थ्योरी क्या है?

बिग बैंग थ्योरी एक वैज्ञानिक सिद्धांत है जो बताता है कि ब्रह्माण्ड की शुरुआत कैसे हुई। ब्रह्मांड के अस्तित्व में आने के बाद आकाशगंगाओं और सितारों का निर्माण हुआ । सरल शब्दों में, ब्रह्माण्ड बिग बैंग के साथ शुरू हुआ सबसे पहले यह घना , गर्म और छोटा था वैज्ञानिकों के मुताबिक, हमारा यूनिवर्स 13.81 अरब साल पुराना है और तब से इसका विस्तार हो रहा है। चूंकि यह विस्तार कर रहा है, इसलिए अब ठंडा भी हो रहा है । यह एक गर्म और घने बिंदु के रूप में शुरू हुआ। ब्रह्माण्ड 10 -34 साल का था, जब वह बम की तरह फटा और फैलने लगा। फटने के बाद फैलने की इस प्रक्रिया को हम इन्फ्लेशन बोलते है।  तब से अब तक ब्रह्मांड आकार में दोगुना हो गया है और हम इसके आकार को किलोमीटर में नहीं माप सकते। इसी फटने की प्रक्रिया को हम बिग बैंग बोलते है।  इसी विस्फोट के बाद ब्रह्मांड अपने असली रूप में आया। 

बिग बैंग के साथ समय और स्थान (और पदार्थ) की अवधारणाओं को बनाया गया था। यह एक छोटा बिंदु था और अचानक, यह आकाशगंगा से भी बड़ा हो गया।  और आज हम देख ही सकते हैं की ब्रह्माण्ड कितना बड़ा है। क्या आप जानते हैं कि हमारा यूनिवर्स अभी भी विस्तार कर रहा है?  इसके बाद मैटर और एंटी मैटर बना।

न्यूट्रॉन और प्रोटॉन जैसे स्थिर कण बनने लगे जब ब्रह्माण्ड सिर्फ एक सेकंड पुराना था। अगले तीन मिनट में, तापमान भी गिर गया और प्रोटॉन, न्यूट्रॉन आपस में मिल कर हीलियम और हाइड्रोजन बनाने के अब लिए एक साथ आ सकते थे।

बिग बैंग सिद्धांत कहा से आया।

1 9 20 के अंत में, एडविन हबल नामक एक वैज्ञानिक ने एक दूरबीन के माध्यम से देखा कि आकाशगंगाएं दूर जा रही थीं। चुकी सब कुछ एक दूसरे से दूर हो रहा है और हर दिशा में फ़ैल रहा है ,और लगातार हो रहा है तो हम यह मान सकते है की इसका शुरुआत भी कही से हुआ होगा, किसी पॉइंट (बिंदु से हुआ होगा ) और यही से बिग बैंग का सिद्धांत सामने आता है।  जब हम दिवाली में बम फोड़ते है तो वह फट कर हर दिशा में फैलता है ठीक इसी तरह ब्रह्मांड भी फैल रहा है यानि हम ये कह सकते है की ब्रह्मांड भी बम जैसा फटा हुआ होगा चुकी वह भी हर दिशा में फैल रहा है।

अधिकांश लोगों का मानना ​​है कि भगवान ने हमारे लिए ब्रह्मांड बनाया है हालांकि, हम उस समय मौजूद नहीं थेहम भगवान के अस्तित्व को अस्वीकार नहीं करते लेकिन हमें विश्वास है कि यह भौतिक विज्ञान का नियम है जिसने ब्रह्मांड बनाया है

Keywords: Big bang in Hindi, Big Bang kya hai