मृत सागर के बारे में आपने कभी न कभी सुना होगा या पढ़ा होगा | की इसे मृत सागर क्यूँ कहतें है? इत्यादि | पर का आपको मृत सागर की एक विशेषता पता है की यहाँ वस्तुएं तैरती रहती है |

है न कमाल की बात, एक एसा समुद्र जहाँ कोई डूब नही सकता परन्तु इसे मृत सागर कहतें है | दरसल मृत सागर सी लेवल से ४०० मीटर नीचे स्थित है | और यह दुनिया की सबसे ज्यादा खारे पानी वाला समुद्र है | इसकी कई विशेषताएं है –

जैसे – मृत सागर में कई प्रकार के खनिज लवण(कैल्सियम , जिंक , सल्फ़र, ब्रोमाइड, पोटाश, मग्नीशियम इत्यादि ) पाए जातें है, जो मानव शरीर के लिए अत्यंत लाभकारी होते है | परन्तु इसका इस्तेमाल खाने के लिए न करके विभिन्न तरह की औषधियों, स्पा इत्यादि में किया जाता है| क्यूंकि यह काफी खारा होता है तो इसमें कोई जलीय जीव नही जीवित रह पाते इसी लिए यह मृत सागर कहलाता है | क्यूंकि इसमें नमक की मात्रा किसी दुसरे समुद्र से सात से आठ प्रतिशत तक अधिक होती है, जिस कारण इसका घनत्व काफी होता है , और इसमे कोई भी वास्तु डूबती नही वरन तैरती रहती है |