प्रकाश एक उर्जा है जिसका तरंगदैर्घ्य (wavelength) दृश्य सीमा के भीतर होता है, प्रकाश के सबसे छोटे कण को फोटोन कहते हैं। प्रकाश का तरंगदैर्घ्य इसका रंग निर्धारित करता है। शून्य (स्पेस) में या फिर अन्य माध्यमो द्वारा प्रकाश स्वयं प्रसारित तरंग होती है। प्रकाश विद्युतचुंबकीय विकिरण का एक छोटा रूप है। विद्युतचुंबकीय विकिरण के अंतर्गत दृष्य प्रकाश, एक्स-किरण, गामा-किरण, रेडियो तरंगे आदि आते हैं। मानव की आँखे विद्युतचुंबकीय विकिरण के सिर्फ दृष्य प्रकाश के भाग को ही देख पातीं हैं।

source: wikipedia

प्रकाश के गुण और उसके प्रकृति के अध्ययन को प्रकाशिकी कहते हैं।

प्रकाश के गुण ( Propertise of Light)

निर्वात में प्रकाश की चाल 3 x 10^8 मी / से होती है। और यह अलग अलग माध्यमो में अलग अलग पाई जाती है।

प्रकाश हमेशा सीधी रेखा में चलती है।

प्रकाश जब एक माध्यम से दूसरी माध्यम में जाती है तो उसकी चाल और तरंगदैर्घ्य बदल जाती है