पादप जीवविज्ञानं एवं वनस्पति जगत का एक अहम् एवं विशाल हिस्सा है, जिसमे छोटे पेड़ एवं पौधे सम्मिलित होते है| पादपो की हजारो प्रजातिया अस्तित्व में विद्यमान है, जिसमे से अधिकाशत: अपना भोजन प्रकाश संश्लेष्ण की क्रिया द्वारा स्वय बनाते है| पादप स्थिर होते है, और ये एक स्थान से दूसरे स्थान तक नहीं जा सकते|

अधिकतर पादप हरे रंग के होते है, जिनमे पर्णहरित नामक तत्व पाया जाता है, कितु कुछ अन्य रंगो में भी उपस्थित होते है| पादपो में भी प्राण होते है, एवं इनके अध्ययन को वनस्पति विज्ञानं कहा जाता है| पादपो के भीतर पाए जाने वाली कोशिकाओ को सेलुलोज कहा जाता है|

पादपो में विभिन्न प्रकार की विशेषताए पाई जाती है, जैसे कि:-

  • वनस्पति विज्ञानं के अध्ययन के अंतर्गत ये पाया गया कि पादपो का शरीर अनेक कोशिकाओ से बना होता है और पादप भी श्वास लेते है|
  • अधिकांश पादप अपना भोजन प्रकाश संश्लेषण द्वारा सूर्य से ऊर्जा प्राप्त करके बनाते है|
  • हरा शैवाल भी एक प्रकार का पादप है, व् कवक अपना भोजन स्वय नहीं बना पाते|
  • पादप आक्सीजन उत्पन्न करने का महत्वपूर्ण स्त्रोत है|
  • पादप नयी कोशिकाओ का निर्माण कर सकते है एवं उनमें भी अपनी सख्या को बढ़ाने की होड़ होती है|

पादपो का अध्ययन करने की प्रक्रिया को कई भागों में विभक्त किया गया है, क्योकि पादप अध्ययन एक जटिल प्रक्रिया है, जो एक चरण में पूर्ण नहीं हो सकती| इसके अंतर्गत पादपो के आकार, बनावट, उनके आपसी सम्बन्ध, उपयोगिता, प्रजनन की क्षमता आदि बातों का अध्ययन सम्मिलित किया गया है|