Last updated on जून 24th, 2018 at 12:58 अपराह्न

दर्पण हम उस शीशे को बोलते है जिसका एक सतह साफ होता है और दूसरा सतह पॉलिश होता है।  दर्पण प्रकाश को अधिकतम परावर्तित करने में सक्षम होता है।

दर्पण मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं।

१. समतल दर्पण

ऐसे दर्पण का सतह समतल या सपाट होता है। समतल दर्पण का मुख्य उदहारण हमारे घर में मौजूद आईना है।

२. गोलीय दर्पण

गोलीय दर्पण मुख्यतः एक कटे गए गेंद के जैसे होते हैं।  उनका एक सतह पर पॉलिश  होता है और दूसरा सतह साफ होता है ताकि प्रकाश का परावर्तन हो सके।