दोस्तों हम सभी जिंदगी में आगे बढ़ना चाहते है। हम कभी भी पीछे नहीं रहना चाहते हैं। अगर जिंदगी एक रेस है तो हम जीत कर दिखाना चाहते हैं। लेकिन फिर हममे से कई लोग ये सबकुछ नहीं कर पाते।  बस सोचकर और मन मसोस कर रह जाते हैं।

ऐसा क्यों होता है की कुछ लोग जिंदगी में जो चाहते हैं वो पा लेते है और कुछ लोग कुछ नहीं पा पाते। दोस्तों अगर हम जिंदगी में आगे नहीं बढ़ रहे हैं  तो हमारा जीना व्यर्थ है।

चलिए आज मै आपकी मदद करूंगा और बताऊंगा की हम जिंदगी में आगे कैसे बढ़ सकते हैं. इसके कुछ रूल्स है जो आपको जानने चाहिए। चलिए और अब ज्यादा समय ना लेते हुए रूल्स पर आते हैं।

पहले अपना लक्ष्य निर्धारित करें।

आगे बढ़ना है तो लक्ष्य तो होना जरूरी है बिना लक्ष्य का हम किधर भी नहीं जा सकते। सबसे पहला काम आपको जो करना  वो ये है की आपको अपना लक्ष्य निर्धारित करना है। आपको ये पता लगाना है की आपको किस दिशा में आगे बढ़ना है।

आप प्रति दिन क्या करते हैं लिस्ट तैयार करें।

लक्ष्य निर्धारित करने के बाद आपको एक लिस्ट तैयार करनी है और उस लिस्ट में हर वो चीज़ लिखनी है जो आप रोज करते हैं और ये भी लिखना है की उन हर कामो में आप कितना समय देते हैं। उस लिस्ट में अब अपने लक्ष्य को भी लिख डालें।

लिस्ट में महत्व पूर्ण काम को निचे रखें और जो व्यर्थ का काम आप करते थे उसे ऊपर रखें।

दोस्तों ये ऐसा इसलिए है क्यों की हम खुद को एक दिन में नहीं बदल सकते।  एक दिन में कुछ नहीं होता। खुद को बदलने के लिए लगातार प्रयत्न करना पड़ता है। इसलिए आपको लिस्ट में उन कामो को पहले लिखना है वो आप हर दिन बेवजह करते थे। और लक्ष्य को सबसे नीचे लिखना हैं। और फिर लिस्ट के हिसाब से काम पर लग जाना है।

आपको पता है इससे क्या होगा। इससे आपके अंदर एक डर पैदा होगी। वो दर ये होगी की आप लक्ष्य का कुछ नहीं कर रहे और अपना समय फालतू चीज़ो में बर्बाद कर रहे हैं।

लिस्ट को धीरे धीरे ऊपर से क्लियर करते जाये।

जब आपको ऐसा डर महसूस होने लगे तो बस एक छोटा सा काम करना है लिस्ट को धीरे धीरे क्लियर करते जाना है। आप जहा बिना वजह समय जाया कर रहे थे उन चीज़ो को हटा देना है धीरे धीरे।  दोस्तों मैंने पहले ही बोलै की ये एक दिन की बात नहीं है।  इसमें महीनो लग सकते है लेकिन मेरा विस्वास करिये आप बदल जायेंगे और अब आपका मन उन चीज़ो में भी लगने लगेगा जहा पहले नहीं लगता था। और जब मन लगने लगेगा तो आपको मजा आने लगेगा और जब काम में मजा आने लगता है तो हम वो हर चीज़ भूल जाते है जो हमारे लिए फालतू चीज़े हैं।

अब लिस्ट को उल्टा कर दे।

अब आपको हल्का महसूस होगा जहा आपके लिस्ट में 10 काम होते थे अब बचकर ३-४  रह गए होंगे। अब आपको इन तीन चार कामो को ही करना है। आप अपने लिस्ट को उल्टा कर दे और सबसे जो महत्वपूर्ण काम है उसे पहले करे।

अंत में

हमारे आगे बढ़ने की जो यात्रा है उसमे सबसे बाधा अगर कोई चीज़ डालती है तो वो है बेवजह के काम जो हम करते है लेकिन हमारे लिए महत्वपूर्ण नहीं है। दुनिया में आज जो भी आगे बढ़ा है उसके पास भी काम करने लिए १२ घंटे है और आपके पास भी लेकिन फिर वो आपसे आगे क्यों है। क्यों की उसने कुछ पाने के लिए कुछ छोड़ा भी है। अंग्रेजी में हम इससे सैक्रिफाइस करना बोलते है। अगर आप कुछ पाना चाहते है तो आपको बहोत कुछ छोड़ने के लिए भी तैयार रहना पड़ेगा। और घबराना नहीं है वो सारे चीज़ स्वतः छूट जायेगें  एक एक कर के आपको करना ये है की हर रोज उन चीज़ो में समय काम देना है जो आपके लिए महत्व पूर्ण नहीं है फिर भी आप करते है। जिंदगी में आप हर कुछ नहीं पा सकते सैक्रिफाइस करना सीखिए। सचिन तेंदुलकर को महान बल्लेबाज बोलते है क्या पता उनके साथ भी ऐसा हुआ हो की दोस्त बोल रहे हो की हे सचिन चलो सिनेमा देखने चलते हैं और सचिन ने मना कर दिया हो। दोस्तों सैक्रिफाइस इसी को बोलते है कुछ पाने के लिए बहोत कुछ छोड़ना पड़ता है।

jindgi me aage kaise badhe in hindi, life me aage kaise badhe hindi me