कुछ फूल मौसमी होते हैं, जो केवल एक ही मौसम में खिलते हैं और इसके बाद नष्ट हो जाते हैं| गर्मी के मौसम में भी आप फूलों से अपने घर व बगीचे को ओर अधिक सुंदर बना सकते हैं, क्योंकि आज के हमारे इस लेख में आपको गर्मी के मौसम में खिलने वाले फूलों के बारे में बतायेंगे|

बाल्सम– खूबसूरत रंगीन फूलों वाला यह पौधा अधिकतम लगभग 2 फीट लम्बा होता है| इसकी पत्तियां गहरे हरे रंग की पतली व लम्बे आकार की होती है| मोटे तने वाले भाग में से ही इसके फूल पैदा होते हैं, जो गुलाबी, लाल, जामुनी, सफ़ेद रंग के कई हल्के और गहरे रंग के कुछ शेड्स लिए हुए होते हैं|

सेलोसिया- मुर्गे की कलंगी जैसे दिखने वाले फूल को मुर्गकेश के नाम से भी जाना जाता है| यह आकर्षक फूल काफी नरम व मुलायम होता है|

गेलार्डिया- इसे नवरंग भी कहते हैं| इसका पौधा लगभग 31-32 इंच तक लम्बा हो सकता है| तीन-चार रंगों के मिश्रण वाले गहरे रंग के इन फूलों की पंखुड़ियाँ किनारों से भड़कीले पीले रंग की होती हैं, जो दिखने में काफी मनमोहक व आकर्षक लगते हैं| इसकी दो प्रजातियाँ “गेलार्डिया पिक्टा” और “गेलार्डिया लोरियेंज़ाना” हैं| 

कनेर- लंबी, पतली व नुकीले आकार की पत्तियों वाले इस पेड़ की बहुत अधिक ऊँचे नहीं होते हैं| कनेर में पीले, गुलाबी, सफ़ेद व लाल रंग के फूल वाली किस्मे होती हैं|

गोम्फ्रेना- लाल, गुलाबी, सफ़ेद और जामुनी रंग के फूलों में उपलब्ध यह पौधा अधिक बड़ा नही होता है| एक पौधे पर एक ही रंग के फूल खिलते हैं| 1 या 2 फीट की ऊँचाई वाले इस पौधे पर एक बार में कई सारे फूल खिलते हैं, जो की लगभग एक महीने तक खिले रहने के बाद सूखना आरम्भ हो जाते हैं|

पोर्टुलाका- यह पौधा लम्बाई में अधिक न बढ़कर चौड़ाई में शीघ्रता से फैलता है| छोटी बारीक पत्तियों वाले इस पौधे पर साधारणतः छोटे-छोटे पांच पत्तियों वाले फूल खिलते है, जो थोड़े ही समय में मुरझा जाते हैं| इसके लाल, गुलाबी, सफ़ेद, पीले, जामुनी जैसे कई रंगों के फूल वाले पौधे उपलब्ध होते हैं|  

ग्लेडियोलस- आकर्षण के कारण अत्यंत प्रचलित व 250 से भी अधिक प्रजातियों वाले इस पौधे के फूल सुन्दर व कई रंगों के होते हैं| पौधे की लम्बाई अधिकतम 8 फीट तक हो सकती है| इसके फूल की पत्तियों की तलवार जैसी तीखी आकृति होती है|  

डहेलिया- यह अनेक छोटी-छोटी पंखुड़ियों वाला फूल दिखने में बहुत सुंदर होता है| इसकी अनेक प्रजातियों में विभिन्न रंग व कई आकार के फूल पाए जाते है| यह अधिकतम ढाई मीटर तक लम्बे हो सकते हैं|

सदाफूली- झाड़ीदार यह पौधा अत्यंत घना होता है| इसपर सफेद रंग के फूल खिलते हैं. जो हल्के जामुनी रंगत वाले होते हैं| इसके जड़ व तने में से सफेद दूध जैसा पदार्थ निकलता  है, जो जहरीला होता है| इसपर छोटे गोल फल भी निकलते हैं, लेकिन ये जहरीले नहीं होते| औषधि के रूप में भी सदाफूली का प्रयोग किया जाता है|

सूरजमुखी- पीले रंग के इस सुन्दर फूल का का मुख सूर्य की दिशा में रहता है| लुभावने फूल वाले इस पौधे की एक प्रजाति में काफी बड़े फूल भी पाए जाते हैं|

कॉसमॉस- इसे कास्मिया भी कहा जाता है| अधिकतम 2 मीटर लम्बाई वाले इन पौधों के फूल अधिक बड़े नहीं होते और पंखुडियां गोलाई में लम्बी व पतली होती हैं| इसकी विभिन्न प्रजातियों में फूलों के कई रंग पाए जाते हैं|

Cosmos pink flower in garden with blue sky

इनके अतिरिक्त ओर भी ऐसे फूल हैं, जिनकी गर्मियों में मौसम अच्छी पैदावार होती है और बगीचे को महकाने व सजाने के लिए उपयुक्त होते हैं, जैसे- समर स्वीट, क्लियोम, गुड़हल, कोशिया, जीनिया, गेंदा, एमेरान्थस्, टोरेनिया आदि| इनमे से कुछ फूलों की अनेक प्रजातियाँ पायी जाती हैं, जो विभिन्न रंगों व आकारों वाली होती है|