Last updated on फ़रवरी 26th, 2018 at 07:18 अपराह्न

नींद हमारे अच्छे स्वास्थ्य और कल्याण का एक अति आवश्यक सूचक है। हम सब अपने जीवन के सम्पूर्ण समय का एक तिहाई हिस्सा सो कर बिता देतें है । अतः एक स्वस्थ नींद की सही स्थिति और सही समय जानना हमारे आपके जीवनकाल का एक अनिवार्य प्रश्न है।

आपको आपके आस-पास ऐसे बहुत से लोग मिल जायेंगे जो कहतें है की उन्हें दोपहर में एक झपकी लेने की आदत है । पर हमें यह नहीं पता की दिन में सोना फायदेमंद है की नहीं । इस बारे में सब अलग- अलग मत रखतें है।

आयुर्वेद कहता है की, रात में सोना दिन में सोने की अपेक्षा अधिक अच्छा और सुरक्षित होता है । यहां तक की विज्ञान का भी कहना लगभग-लगभग इसी प्रकार है इसके अनुसार ” मनुष्य को दिन की अपेक्षा रात में अधिक अच्छी नींद एवं जल्दी आती है “और एक रिसर्च में यह साबित हुआ है की अगर आप किसी इंसान को अँधेरे में सुलाते है तो वह एक बार में अधिकतम २४ घटें तक की नींद ले सकता है।

आयुर्वेद कहता है की अगर आप दिन में अधिक सोते है तो आपको कई समस्याएं हो सकती है, जैसे की कफ की समस्या, पित्त की समस्या और वात की समस्या इत्यादि | और यह आपके शरीर के कुछ दोषों के असंतुलन के कारण होता है जो आपकी दिनचर्या और रोज के कामकाजी जीवन में समस्या उत्पन्न कर सकता है ।इसलिए कुल मिलाकर देखें तो रात का सोना अधिक सुरक्षित माना गया है ।

cute boy sleeping cartoon

लेकिन कुछ ऐसी भी स्थितियाँ हैं जिनमे दिन में सोने को शरीर के लिए फायदेमंद बताया गया है। आयुर्वेद कहता है की-

यदि आप स्वस्थ और तंदुरुस्त हैं तो गर्मियों के समय में झपकी लेना आपके शरीर के लिए फायदेमंद साबित होगा।

जो विद्यार्थी लगातार पड़ते रहतें है उन्हें कुछ अंतराल बाद छोटी सी झपकी लेना लाभदायक होगा ।

कुछ बूढ़े लोगों के लिए दिन में छोटी सी झपकी अपने शरीर को आराम देने के लिए भी लाभकारी सिद्ध होगी ।

तथा अगर आप अत्यंत दुखी हैं तो आपका दिन में छोटी सी नींद लेना बेहतर रहेगा और आपके दिमाग को इससे आराम मिलेगा

विज्ञान ये भी कहता है की आपको ७-८ घंटे सोना चाहिए वह दिन हो या रात इससे अधिक अंतर नहीं पड़ता । अतः निष्कर्ष यही है की आप दिन में भी सो सकतें है और रात में भी, करें वही जो आपकी सेहत के लिए सही और शरीर के लिए आरमदायक हो ।

Keywords: kya raat ko sona jaroori hai, kya rat me sona chahiye, Kya din me sona aacha hai