कॉफ़ी एक जाना-माना लोकप्रिय पेय है, जो पूरी दुनिया में पसंद किया जाता है| सदियों से कॉफ़ी को अलग-अलग रूपों में पिया जा रहा है एवं आज के समय में इसे विभिन्न तरीको द्वारा बनाया जाता है एवं इसका जन्म इथोपिया एवं यमन से हुआ माना जाता है, पर आपने कभी सोचा की कॉफ़ी में हल्का कडवापन क्यों होता है, चलिए हम आपको बताते है कि ऐसा क्यों है?

कॉफ़ी की कड़वाहट का कारण:

कॉफ़ी को बनाने के लिए इसके बीजों का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे अच्छे से भूना जाता है| इन बीजो में कैफीन पाया जाता है, तो बीजों को भूनने के कारण एवं कैफीन की मात्रा के कारण कॉफ़ी में कड़वाहट आना बिलकुल आम बात है|

कैफीन को उत्तेजना के लिए भी पिया जाता रहा है एवं पुराने समय में सूफी संत ध्यान लगाने से पहले कॉफ़ी को पिया करते थे जिससे उन्हें ध्यान में बाधा न पड़े|

कुछ वैज्ञानिको का मानना है कि अधिक कॉफ़ी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है, जबकि कुछ केवल इसके अच्छे परिणामों को देखते है| आधुनिक समय में लाते, कापुचिनो, फ्रेप्पे, इतालियन, आदि प्रकार की कॉफ़ी बनाई जाती है, जसे दूध के साथ या बिना दूध दोनों तरह से बनाया जाता है|