आपने काफी बार ओजोन परत के बारे में सुना होगा या पढ़ा होगा| जैसा कि हम सब जानते है कि सूर्य से हानिकारक पराबैंगनी किरणें निकलती है जो यदि सीधा पृथ्वी पर आये तो बहुत नुकसानदायक परिणाम सामने आ सकते है इसलिए पृथ्वी के चारों ओर गैसों के समूह से मिलकर एक परत मौजूद रहती है जिसे ओजोन परत कहा जाता है एवं यही परत सूर्य से आने वाली अल्ट्रावोयिलेट किरणों से हमारी रक्षा करती है|

ओजोन परत के फायदे:

ओजोन परत के बिना पृथ्वी पर जीवन की कल्पना नही की जा सकती क्योकि सूर्य से आने वाली किरणें काफी खतरनाक होती है एवं ओजोन परत इसके प्रभाव को कम करके उतना ही पृथ्वी तक भेजती है|

ओजोन परत पृथ्वी के तापमान को नियंत्रित करने में भी सहायता करती एवं पराबैंगनी किरणों से होने वाले नुकसान को रोकती है|

यह विभिन्न जीव-जन्तुओ को रोगों से बचाती है एवं कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से भी बचाव करती है|

ओजोन परत के बिना पृथ्वी का कोई अस्तित्व नहीं रहेगा क्योकि यदि UV rays धरती तक पहुच गई तो आप सोच भी नही सकते कि इसका क्या परिणाम होगा|

कैसे बचाए ओजोन परत को?

पर्यावरण प्रदूषण के कारण दिन-प्रतिदिन ओजोन परत पतली होती जा रही है| यह पृथ्वी से करींब 15 से 35 किमी. की ऊंचाई पर उपस्थ्ति रहती है ठीक समताप मंडल के नीचे|

पृथ्वी के इस सुरक्षा कवच को बचाने के लिए वायुमंडल को साफ़ रखना अनिवार्य है| CFC गैसेस एवं वृक्षों की लगातार कटाई, एवं वायु प्रदूषण से ओजोन के ऊपर खतरा बढ़ता जा रहा है जिसका एकमात्र जिम्मेवार इन्सान खुद है|

यदि ओजोन परत को हानि से नही रोका गया तो धरती पर कोई भी मनुष्य या आने वाला शिशु तक निरोगी पैदा नहीं होगा| सब फसलें नष्ट हो जायगी, पानी जहरीला हो जायगा एवं जीवन का कोई आधार शेष नही बचेगा|