द्विविमीय गति

जब कोई भी कण या वस्तु किसी समतल में किसी भी एक दिशा की ओर गतिमान होती है तो इसे द्विविमीय गति या समतल में गति कहतें है | द्विविमीय गति में किसी भी वस्तु की गति का रास्ता निर्देशांकों में निकाय के अक्षों  x, y,z में से दो अक्षों  x,y या y,z या z,x  पर होता है|

दुसरे शब्दों में कहे तो अगर कोई वस्तु(object) घुमावदार पथ पर गतिमान होता है, तो हम उसे द्विविमीय गति कहतें है | द्विविमीय गति में वेग सतह के लिए स्पर्शिक होता है |

उदाहरण के लिए मानते है कोई ऑब्जेक्ट किसी समतल में गतिमान है, अतः वह दो निर्देशांकों के निकाय अक्षों  x,y पर दिखाई दे रहा है| तो हम उसके मूल बिंदु के सापेक्ष सदिश  का (r)का मान लिख सकतें है, जो की इसके x अक्ष और y अक्ष के मान का योग होगा

r = x i cap +y j cap — १

अतः हम इसे इस प्रकार भी लिख सकतें है की द्विविमीय गति, दो एक विमीय गति का योग होती है | इसलिए यदि आपको एक विमीय गति का आंकलन करने आता है तो आप द्विविमीय गति का मान आसानी से ज्ञात कर सकतें है |

जैसा की समीकरण १ में दिखाया गया है की जो वस्तु किसी समतल में गति कर रही थी उसका मान x अक्ष (एक विमीय ) सदिश  और y अक्ष (एक विमीय) का योग है|

द्विविमीय गति के दैनिक जीवनशैली में मौजूद उदाहरण:-

1#  सड़क पर कार की गति:-

car cartoon

जब कोई कार किसी सड़क पर चल रही होती है पर उसका मार्ग सीधा नही होता तो यह गति द्विविमीय गति कहलाती है | आप कभी दायें तो कभी बाएं मुड़ते है, क्यूंकि रास्ता वक्रीय होता है इसलिए वेग सतह के स्पर्शिक होता है | तो हम कह सकतें है यदि कोई वस्तु किसी घुमावदार रास्ते पर चलायमान होता है तो उसे द्विवीमीय गति कहतें है |

2#  गेंद की गति:

gend

जब कोई गेंद को उछाल कर फेंका जाए तो उसकी गति भी x और y अक्षों के साथ एक वक्र पथ पर द्विविमीय गति का उदाहरण प्रस्तुत करती है|


Comments

5 responses to “द्विविमीय गति”

  1. ATUL GUPTA SO ANAND GUPTA Avatar
    ATUL GUPTA SO ANAND GUPTA

    Excellent way of learning.
    Thank you so much dear einsty team.

  2. ATUL GUPTA Avatar
    ATUL GUPTA

    Excellent way of learning.
    Thank you so much dear einsty team.

  3. Vinay kumar Avatar
    Vinay kumar

    Thanks .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *