cookie (कुकी) क्या है?

कभी आपने गौर किया है कि जब आप YouTube open करते हो तो आपको अपने पसंदीदा video ही क्यों नजर आते है? ऐसा जरुरी नहीं कि आपको YouTube पर जो video दिखाई जा रही है वो मुझे भी दिखे, लेकिन हाँ हमारी पसंद का video जरुरी देखने को मिलता है. ऐसा सिर्फ Cookie की मदद से होता है.

जब भी आप कोई वेबसाइट को देखते हो तो उस वेबसाइट की कुछ जानकारी आपके browser में save हो जाती है और जब आप दोबारा उसी वेबसाइट में जाते हो तो आपको वही आपकी पसंदीदा जानकारी फिर से मिल जाती है.

आज हम Cookie के बारे में जानेंगे और ये भी जानेंगे कि ये होती क्या है, किस काम में आती है और इसके फायदे क्या है.

COOKIE (कुकी) क्या है?

Cookie शब्द सुनने में थोड़ा अटपटा जरुर लगता है पर इसके फायदे बहुत हैं. अगर सरल हिंदी भाषा में समझा जाये तो cookie एक तरह की data (जानकारी) होती है जो किसी भी वेबसाइट पर जाने पर आपके browser में save होती है, और वही डाटा दुसरे वेबसाइट आपको आपकी पसंद की जानकारी देने में इस्तेमाल करते है.

आप इसे ये समझ सकते हो कि आपका browser ही आपकी कुछ जानकारी वेबसाइट को देती है ताकि आपका user experience अच्छा हो.

जैसा कि आप हमारे वेबसाइट पे आये हो तो इसकी कुछ जानकारी आपके browser में save होती है, जिसकी वजह से हमारे वेबसाइट पे जो विज्ञापन है वो आपके पसंद के हिसाब से नजर आती है.

चाहे आप किसी भी shopping website पे visit कर लो आपको सबसे पहले वहीं चीजें (product) नजर आयेंगी जो आपके पसंद की होगी.

वेबसाइट और इन्सान के बीचे में जो अनुभव का ताल-मेल बनाता है वो है cookie, user experience को बढ़ाता है cookie. अगर cookie न हो तो कोई भी वेबसाइट आपको अच्छा न लगे.

आपने कई बार देखा होगा कि जब आप किसी वेबसाइट पर जाते हो तो वहां आपको अमूमन देखने को मिल जाता है कि We accept cookies. इसका सीधा सा मतलब है कि वो आपके browser से cookie वाली data को लेकर आपको आपकी पसंद का दिखाती है.

Cookie के प्रकार? Types of cookie

ये तो clear है कि जब भी आप किसी वेबसाइट में visit करते हो तो आपके browser में उसकी जानकारी cookie के रूप में save हो जाती है. पर Cookie के दो प्रकार होते है-

  1. Session Cookie
  2. Persistent Cookie

Session Cookie: Session Cookie cookie तब बनती है जब आप किसी वेबसाइट में गए और तब तक बने रहती है जब तक आप उस वेबसाइट में हो, यानि की जैसे ही आप उस वेबसाइट में बहार निकल आते हो वैसे ही उस वेबसाइट का Session Cookie delete हो जाता है.

Session Cookie मुख्य रूप से server को ये जानकारी देती है कि आप कितने समय तक वेबसाइट पे थे, आपने क्या किया.

Persistent Cookie: वेबसाइट पर visit करने पर Persistent Cookie भी बनती है, पर जब आप वेबसाइट से बहार निकलते हो तो ये cookie डिलीट नहीं होती, बकली आपके browser में save हो जाती है. Persistent Cookie का मुख्य काम यही होता है कि आप जिस वेबसाइट पे गए थे उस वेबसाइट पर आपकी पसंदीदा जानकारी दिखाई जाये, जैसे – YouTube, Shopping website Persistent Cookie इस्तेमाल करती है ताकि user experience improve हो सके.

हर वेबसाइट की अपनी एक अलग Persistent Cookie आपके browser में save रहती है और जब आप कसी वेबसाइट पे दोबारा visit करते हो तो ये Persistent Cookie फिर से सक्रीय हो जाती है.

Cookie में कौन-कौन सी जानकारी save रहती है?

  • आप जिस वेबसाइट को विजिट करते हो उस वेबसाइट का URL save होता है.
  • कितने समय आप वेबसाइट पे थे उसकी जानकारी cookie में रहती है.
  • Cookie में कुछ unique identification numbers भी होते हैं.