तंतु क्या होता है – What is tantu in hindi

एक तागा तंतु से मिलकर बना होता है, अगर हम एक तागा ले और उसके लड़ियों को पृथक करें तो यह पाएंगे की हर एक लड़ी और भी महीन लड़ी से मिल कर बना हुआ है , इन्हीं पतली लड़ियों को हम तंतु कहते हैं. प्राकृतिक तंतु क्या है कुछ तंतु हमें पादपो और जानवरों […]

पेड़ अधिक समय तक जीवित क्यों रहते हैं

क्या आप दुनिया के सबसे पुराने पेड़ को जानते हैं? यह ओल्ड तिजको है जो 9550 साल पुराना है। यह पेड़ स्वीडन में दलारना प्रांत के फुलफुजलेट पर्वत में स्थित है। इस पेड़ की उम्र 9550 साल ,कार्बन डेटिंग का उपयोग करके निर्धारित की गई थी। 9550 साल बाद इस पेड़ को जिंदा देखकर आपके मन में सवाल उठ रहा […]

पौधे व इनके वैज्ञानिक नाम Plants and their Scientific Names

गन्ना- सैकेरम ऑफिसिनेरम तम्बाकू- निकोटियाना टोबेकम सूरजमुखी- हैलिएन्थस एनस लोबिया- विग्ना एनग्युकुलेटा मूँगफली- एराकिस हाइपोज़िया ज्वार- सॉर्घम वल्गेयर मक्का- ज़िया मेज़ उड़द- विग्ना मुंगो चना- साइसर एरीटिनम  आलू- सोलेमन ट्यूबरोसम मसूर- लेन्स कूलिनेरिस गेँहू- ट्रिटिकम एस्टीवम लीची- लीची साइनेंसिस काजू- एनकार्डियम ऑसिडेंटेल नीम्बू- सिट्रस ओरेंटीफोलिया पपीता- केरिका पपाया टमाटर- लाइकोपर्सिकम एस्कुलेंटम इमली- टैमारिंडस इंडिका  सन्तरा- […]

पेड़ व पौधों के हिन्दी व अँग्रेजी नाम

कनेर Oleander पीला कनेर Yellow Oleander  कंगन Ixora मेहँदी Hennah गुलतुर्रा Peacock Flower दिकमाला Brilliant Gardenia गन्धराज Jasmine तुलसी Tulasi लाल पत्ते Lobster Plant रंगून की बेल Rangoon Creeper चाँदनी Moonbeam गुड़हल Hibiscus हारसिंगार Tree of sorrow कलिहारी Glory Lily मुलता Sky Flower बबूल Acacia बास Bamboo सिरस Abbizia Labbek भोजपत्र Birch बरगद Banyan सागवान […]

वनस्पति तेल क्या होता है। Vegetable Oil in Hindi

वनस्पति तेल, बहुत प्रकार की वनस्पतियों के बीज से निकला गया तेल होता है जैसे सोयाबीन का तेल, सूर्यमुखी का तेल, सरसों का तेल, नारियल का तेल। प्राकृतिक रूप से बनाया गया वनस्पति तेल हमारे स्वास्थ के लिए काफी लाभदायक होता है जैसे की सरसों का तेल, नारियल का तेल , सोयाबीन का तेल वहीं […]

पादपों में जनन 

जनन के द्वारा ही नए पादपों का विकास व जन्म होता है। लैंगिक व अलैंगिक जनन दोनों से ही पादप की भिन्न-भिन्न व नई प्रजातियां पैदा की जा रही हैं। पादपों में लैंगिक जनन पुष्पी पादपों में जनन के लिए दो अंग होते हैं- स्त्रीकेसर– यह  मादा जननांग है। इसे अण्डप भी कहते हैं। इसके […]

परागण

परागकोश में पाये जाने वाले परागकणों का अण्डप में वर्तिकाग्र तक पहुंचना ही परागण कहलाता है। परागण निषेचन से पहले होता है।परागकणों को पादपों में पहुंचाने के लिए पादपों के आंतरिक भाग में अण्डाशय के ऊपर नलिका के रूप में “वर्तिका” पाई जाती है, इस वर्तिका का अग्रभाग (आगे का हिस्सा) ही वर्तिकाग्र कहलाता है। […]