कूलर कैसे काम करता है

गर्मियों में आप एयर कूलर तो जरूर इस्तेमाल करते होंगे, लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की एयर कूलर कैसे काम करता है ? एयर कूलर को अंग्रेजी में हम स्वाम्प कूलर या एवापोराटिव कूलर भी कहते है, यह कूलर ठीक उसी सिधांत पर काम करता है जिस सिधांत पर पानी से भरा मटकी। इसे […]

अर्किमिडिज का सिद्धांत।Archimedes Principle in Hindi

सिद्धांत जब कोइ ठोस चीज़ किसी द्रव्य मे डाली जाये तो उस द्रव्य से ठोस वस्तु पर लगने वाला उत्प्लावन बल (Buoyancy) ही अर्किमिडिज के सिद्धांत को दर्शाता है। इसके अनुसार हम ये भी समझ सकते है कि कोइ भी चीज़ तरल माध्यम मे डालने से या तो तैरने लगती है या डूब जाती है […]

भाप क्या है व इसके उपयोग

भाप क्या है?  जल को अत्यधिक ताप देने से इसका आयतन बढ़ता है तथा 100° सेल्सियस से अधिक गर्म होने पर यह जिस रूप में उड़ता है, उसे वाष्प या भाप कहते हैं। साधारण शब्दों में,जल को गर्म करनेसे निकलने वाली वाष्प को भाप कहते हैं अर्थात् जलवाष्प को भाप कहते हैं। यह गैसीय रूप […]

द्रव के गुण

आयतन की निश्चितता- सभी पदार्थ कोई न कोई जगह अवश्य ही लेते है। उस जगह का माप ही आयतन कहलाता है। यह समझना सरल ही है कि कोई भी द्रव एक निश्चित स्थान घेरता ही है। इसीलिए इसमें निश्चित आयतन का गुण विद्यमान होता है। घनत्व की निश्चितता- प्रत्येक द्रव्य (पदार्थ) में द्रव्यमान पाया जाता […]

पारिस्थितकी एवं पारितंत्र:

पारिस्थितिकी या इकोलॉजी से अर्थ हमारे चारों तरफ उपस्थित जीवों, प्राणियों, पौधे, एवं सूक्ष्म जीवों से है, जो पर्यावरण एवं वातावरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है| ये सभी जीव-जन्तु एवं पादप मिलकर जैविक इकाई के रूप में कार्य करते है एवं खाद्य श्रंखला का निर्माण करते है| पारिस्थितिकी के अंतर्गत आने वाले अधिकांश जीव भोजन […]

पर्यावरण, प्रदूषण एवं इसके प्रभाव

जल, वायु, वनस्पति, जीव-जन्तु, मिट्टी आदि मनुष्य के चारों ओर परिलक्षित है, इन्हीं से हम घिरे हुए हैं, यही पर्यावरण है। हमारे आस-पास की परिस्थितियां, प्रभाव व वस्तुस्थितियां ही पर्यावरण है। हमारा वातावरण ही पर्यावरण है। वातावरण में पाये जाने वाली सभी घटकों को पर्यावरण में सम्मिलित किया जाता है। पर्यावरण एक व्यापक अभिव्यक्ति है। […]

जैव प्रौद्योगिकी

जैव प्रौद्योगीकी या बायोटेक्नोलॉजी, विज्ञानं के विस्तृत क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण अंग है| पिछले कई वर्षों में जैव प्रौद्योगीकी ने विकास के चरम शीर्षों को छुआ है तथा इसका मुख्य उदेश्य मानव जाति को सब तरफ से लाभ पहुचाना एवं राष्ट्र के विकास एवं उन्नति में योगदान करना है| प्रौद्योगीकी का साधारण अर्थ तकनीक या […]