Backup (बैकअप) किसे कहते हैं

क्या आपने कभी किसी चीज़ का backup किया है अगर आपने कभी backup किया होगा तो आपको Backup के बारे में जानकारी होगी। आज के इस पोस्ट में हम Backup क्या है इसके बारे में बताने वाले हैं? तो आइए जानते हैं इस बारे में।  

अगर आप कोई computer या किसी mobile device का उपयोग करते हैं और आपका कोई महत्वपूर्ण डाटा lost हो जाए तो ऐसे में हमें बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अगर हम उन data का backup करें तो हम उस data को और एक बार recover करके पा सकते हैं। Backup एक ऐसा process है, जिसका उपयोग करके original data के कई copies बनाए जाते हैं।

ताकि उनका उपयोग तब किया जा सके जब original data खराब हो जाए। और ऐसे समय में ही backup हमारे काम  आता है। इसके साथ अगर data को कोई दूसरे जगह से access करना है तब भी Backup हमारे बहुत काम आता है। 

एक Backup एक से ज्यादा files का copy होता है, जो की एक alternative के हिसाब से बना होता है। ताकि अगर कभी original data lost हो जाता है या unusable हो जाता है तब हम इसका उपयोग कर सकते है। ज्यादातर  हम हमारे data को Computer के Hard drive में save करके रखते हैं, ऐसे में ऐसा बहुत बार होता है की hard drive crash कर जाता है। क्योंकि इसमें भी अलग electronic devices के तरह ही बहुत सी खराबियां आ सकती हैं। इसलिए इन्हें पूरी तरह से विश्वास नहीं किया जा सकता है।

ऐसे समय में ही हमें data backup के सही महत्व का पता चलता है। यह केवल hardware के malfunction के लिए नहीं होता बल्कि इसके लिए कई बार Software malfunction भी जिम्मेदार होते हैं। जैसे की अगर कोई virus या trozan system के memory को corrupt कर जाए तब इससे data का loss होता है। इसलिए बहुत से कारणो के लिए हमारे data loss हो सकते हैं।

इन सभी मुश्किलों को दूर करने के लिए आज बहुत सारे ऐसे उपाय हैं, जिससे की हम अपने information को securely backup कर सकते हैं। जिनमें की CD-R, DVD-R, USB thumb drives, External Drives और Cloud Storage शामिल हैं। अगर हम इनका सही उपयोग करें तो बड़े ही आसानी से हम अपने महत्वपूर्ण data को backup कर सकते हैं और आवश्यकता पड़ने पर उपयोग कर सकते हैं।

Backup के Types–

वैसे देखा जाए तो ऐसे बहुत सारे Backup के प्रकार हैं और ऐसे terms हैं जो हम अपने digital contents को backup करने के लिए उपयोग करते हैं। इसलिए आज इस 

पोस्ट के माध्यम से हमने उन्ही Backup के types के बारे में आपको समझाने का प्रयास कीया है,  तो फिर चलिए उनके विषय में जानते हैं।

1. Full Backup

Full backup सिस्टम में backup करने के लिए सारे files और folders को select किया जाता है, आमतौर पर इसे initial or first backup के हिसाब से उपयोग किया जाता है।

Full Backup का उदाहरण

यहाँ पर आप हर रात को Monday से Friday तक अपने daily के tasks को backup करते हैं। और यह cycle हर दिन चलता रहता है। सभी backup के समाप्ति में हमें हमारे सारे files और folders backup हुए प्राप्त होते हैं। ऐसे में हमें data loss का कोई खतरा नहीं रहता।

2. Incremental Backup

Incremental backup में सभी changes जो होते हैं वो last backup के बाद वाले होते हैं। यहाँ पर last backup एक full backup या फिर simply last incremental backup भी हो सकता है। .

3. Differential Backup

Differential backups हमेशा से full backups और incremental backup के बीच आता है। Differential backup उस backup को कहा जाता है जब last full backup करने के बाद सारे changes कर दिए गए हो।

Full PC Backup or Full Computer Backup

Full PC backup उस backup को कहा जाता है, जिसमें की computers hard drives के entire images की backup ली जाती है। नाकी सिर्फ individual files और folders की, एक drive image एक snapshot के तरह होता है इसे किसी drive में कहीं भी stored compressed or uncompressed किया जा सकता है।

उम्मीद है आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी, अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो इस पोस्ट को लाइक करें और ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

 


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *