टैटू कैसे बनाए जाते हैं। How tattoo works in Hindi

hot couple taking photos

आपने अक्सर लोगो को टैटू बनवाते हुए देखा होगा लेकिन क्या आपको पता है की टैटू कैसे काम करता है और यह हमेशा के लिए कैसे बन जाता है।

टैटू परमानेंट कैसे हो जाता है यह बात आप सोच रहे होंगे। चलिए हम इस पोस्ट में आपको बताते हैं की टैटू कैसे बनाये जाते हैं, टैटू परमानेंट कैसे हो जाता है और क्या टैटू के कोई नुकसान भी हैं ?

हमारे त्वचा ( skin ) में 3 लेयर्स होते हैं

  • एपिडर्मिस (Epidermis)
  • डर्मिस (Dermis )
  • ह्यपोडर्मिस (hypodermis)

एपिडर्मिस सबसे बाहरी लेयर होता है और यह उसके निचे के लेयर डर्मिस को बचाता है, डर्मिस लेयर में बालो के हेयर फॉलिकल्स (बालो की जड़े ), कनेक्टिव टिश्यू और स्वेट ग्लांड्स (जिससे पसीना निकलता है ) पाए जाते हैं।

टैटू मशीन में छोटे छोटे सुई होते हैं जो त्वचा के डर्मिस लेयर में रंग डाल देते हैं, जो की हमारे त्वचा का दूसरा लेयर है।

चुकी इस दौरान हमारी त्वचा को नुकसान पहुँचता है इसलिए उसका मरम्मत और
रंगो के कणो को खून के द्वारा बाहर निकलने के लिए वाइट ब्लड सेल्स आगे आते है, लेकिन वे ऐसा कर नहीं पाते क्यों की वाइट ब्लड सेल्स के लिए ये रंगो के कण आकर में काफी बड़े होते है। ये कण इतने बड़े होते हैं की हमारे नन्हे वाइट ब्लड सेल्स उसे खा नहीं पाते।

आपको पता होना चाहिए की वाइट ब्लड सेल्स ही हमारे शरीर के सैनिक हैं। ये सेल्स ही बीमारियों और बक्टेरियो से लड़कर हमे बचाते हैं, वाइट ब्लड सेल्स ही रोग प्रतिरोधक क्षमता के अभिन्न अंग हैं। लेकिन वे बिचारे इंसान के इस करतूत को सही नहीं कर पाते और रंगो के ये कण जहाँ डाला गया था वही पड़ा रहता है। इसी से यह परमानेंट टैटू बन जाता है।

टैटू पर अपने बॉयफ्रैंड का नाम लिखवाना और शादी किसी दूसरे लड़के से करना, ऐसी करतूत करने वालो को काफी परेशानी झेलनी पड़ती हैं।

उन्हें टैटू हटवाना पड़ता है जो की काफी मुश्किल भरा काम होता है।

अब आप सोच रहे होंगे की टैटू तो परमानेंट हो गया है तो फिर यह हटाया कैसे जा सकता है ?

आप सही सोच रहे हैं लेकिन सोचिये अगर हम उन रंगो के कणो को तोड़कर इतना छोटा कर दे की हमारे वाइट ब्लड सेल्स उसे खा जाये तो फिर कैसा रहेगा ?

टैटू हटवाने के लिए लेज़र का इस्तेमाल किया जाता है। इस लेज़र का काम बस इतना होता है की वो रंगो के कणो को तोड़कर छोटा कर दे।

जब सारे कण छोटा हो जाते हैं तो हमारे नन्हे वाइट ब्लड सेल्स उसे उस जगह से हटा देते हैं और इस तरह टैटू हट जाता है लेकिन वह पूरी तरह नहीं हटता वह पर दाग बन जाता है जो हटाने के लिए कई बार same प्रक्रिया से गुजारनी पड़ती है।

मतलब की आपका टैटू एक बार में नहीं हटाया जा सकता है उसके लिए आपको कई बार लेज़र से अलग अलग सेशन में हटवाना पड़ेगा और कई बार दाग नहीं हटता।

माइक्रोफोन क्या हैं?

माइक्रोफोन एक ऐसा उपकरण है जो ध्वनि तरंगो को, इलेक्ट्रिकल सिग्नल या एनालॉग सिग्नल में बदल देता है, माइक्रोफोन को हम हिंदी में माइक भी कहते हैं जिसका इस्तेमाल शादी, पर्व या भासन देने होता है।

दो तरह के माइक्रोफोन बाज़ार में उपलब्ध है।

  • कंडेंसर माइक्रोफोन
  • डायनामिक माइक्रोफोन

डायनामिक माइक्रोफोन

डायनामिक माइक्रोफोन में एक चुम्बक के ऊपर तार ( metal coil ) को लपेटा जाता है, फिर चुम्बक के ऊपर एक पतली झिल्ली जिसे diaphragm कहते है, को लगाया जाता है।

यह डायाफ्राम ( diaphragm), ध्वनि तरंगो ( sound waves ) के vibrations को तार ( metal coil ) तक पहुचाता है।

जब ध्वनि तरंगे (sound waves) डायाफ्राम से टकराती है तो जो vibrations होता है उससे इलेक्ट्रिकल एनर्जी पैदा होता है यानि की बिजली पैदा होता है, ये वैसे ही काम करता है जैसे की एक मोटर में गोल चुम्बक के अंदर coil को घुमाने से बिजली बनता है।

बिजली कितना बनेगा यह इस बात पर निर्भर करता है की डायाफ्राम ( diaphragm) कितना vibrate कर रहा है।

फिर यह बिजली या इलेक्ट्रिकल सिग्नल तार के द्वारा कंप्यूटर या ऑडियो डिवाइस में जाता है।

कंडेंसर (Condenser) माइक्रोफोन

कंडेंसर माइक्रोफोन में आगे एक डायाफ्राम ( diaphragm) लगा होता है और उसके पीछे Backplate लगा होता है।

दोनों प्लेट एक दुसरे के सामानांतर होतीं हैं, जब ध्वनि डायाफ्राम ( diaphragm) से टकराती है तो यह vibrate करने लगता है इसके कारण डायाफ्राम और Backplate की बीच की दुरी बदलती रहती है।

इस बदलाव को इलेक्ट्रिकल सिग्नल के रूप में ट्रान्सफर किया जाता है, जहाँ डायनामिक माइक्रोफोन बिना इलेक्ट्रिसिटी की चलती है वही कंडेंसर माइक्रोफोन को इलेक्ट्रिक उर्जा की आवश्यकता होती है।

कंडेंसर माइक्रोफोन से निकल इलेक्ट्रिकल सिग्नल इतना छोटा छोटा है की उसे एम्पलीफायर की आवश्यकता पड़ती है।

एम्पलीफायर उस सिग्नल को बढ़ा देता है।

How are bacteria helpful to humans

Bacteria are single celled micro-organisms. They live in various places and they are everywhere, you can find them in water, in air and inside your body.

In human body there are good bacteria as well as bad bacteria. Good bacteria are good for us but bad bacteria are not so good.

Sometimes some bacteria do kill us because they have become antibiotic resistance bacteria but sometimes they help us.

Millions and trillions of microbes live in or on our body and we don’t even realize. Some of the microbes are helpful for us in fighting the bad guys in our body but some of them are just the bad guys which causes diseases.

Here we are going to find out some of the good bacteria that do not kill us but help us. Some bacteria help us fight with bad bacteria. They also help us in digestion of our food.

4 Examples of good bacteria

Lactobacillus Acidophilus

These bacteria are generally found in fermented food. This bacteria produces an enzyme called lactase which breaks the lactose that are
found in milk products to lactic acid.

They are naturally found in intestine, stomach, vagina and oral cavity. In vagina they produce lactic acid which helps to curb fungal infections.

  1. This bacteria helps to reduce cholesterol in our body.
  2. They help to prevent against diarrhea 
  3. Helps in Weight loss
  4. Helps against Irritable Bowel Syndrome

Bifidobacterium

This bacteria is found in gastrointestinal tract, vagina and mouth humans and other mammals.

This bacteria helps our body digest fiber and other complex carbs which even our body can’t digest. This bacteria is very helpful for our gut microbiome. It makes upto 10% of the total bacteria present in our gastrointestinal tract or gut microbiome.

Escherichia coli

This bacteria is found in intestine. Some of its strains are harmful but some are useful to our body. This bacteria helps in digestion as well as it eats harmful substances that are used by other bacteria to grow. This means, it prevents us from other harmful bacteria.

This bacteria also helps to synthesize vitamin k.

Streptococcus thermophilus

This bacteria is also found in milk products and is used in production of yogurt.

This virus improves immunity too. It helps to fight against viruses, fungi and parasites that invade our gastrointestinal tract.

थेर्मोकोल क्या है और कैसे बनाया जाता है ? Thermocol in Hindi

थर्मोकोल का वैज्ञानिक नाम Polystyrene है , यह एक प्रकार का प्लास्टिक है जिसका इस्तेमाल फ़ूड पैकेजिंग, फोम के प्लेट्स, गिलास तथा वस्तुवो को सुरक्षित रखने के लिए गद्दे के रूप में उपयोग किया जाता है।

थर्मोकोल फोम जो हम देखते हैं वह Polystyrene का एक प्रकार है जिसमे 90 % हवा भरा रहता है, Polystyrene का दूसरा रूप ठोस प्लास्टिक है जो की Polystyrene से बना हुआ हो।

ठोस Polystyrene प्राकृतिक रूप से पारदर्शी होता है, लेकिन इसमें रंग मिला कर इसका रंग बदला जा सकता है।

ठोस Polystyrene का उपयोग गाड़ियों में , CD केस , इलेक्ट्रॉनिक्स, खिलौना, किचन appliances में किया जाता है।

Polystyrene कैसे बनता है

Polystyrene बनाने के लिए styrene नामक मोनोमर को गर्म किया जाता है, जिसके फलस्वरूप styrene के छोटे छोटे कण एक दूसरे से जुड़ते चले जाते है और एक पॉलीमर की लंबी श्रृंखला ( long chain polymer ) बनती है जिसे हम Polystyrene कहते हैं।

Polystyrene का केमिकल फार्मूला (C8H8)n है।

2010 में टोटल 25 million tonnes styrene बनाया गया था।

यह पानी में घुलनशील नहीं है लेकिन acetone में घुलनशील है।

Polystyrene का खोज Eduard Simon ने सन 1839 में किया था। इसको IG Farben ने सन 1931 में commercialize किया।

Polystyrene इनर्ट ( inert  ) है इसका मतलब की यह किसी और वस्तु से react नहीं करता। यह प्लास्टिक काफी किफायती और लॉन्ग लास्टिंग भी है। यह insulating भी है, यानि की इससे बिजली का प्रवाह नहीं होता है।

इस प्लास्टिक को हम शार्ट फॉर्म में PS भी बोलते है, इसका recycle नहीं किया जाता है, क्यों की इसका recycle करके कोई खास वैल्यू प्राप्त नहीं होता , इस प्लास्टिक का उत्पाद करना काफी सस्ता है इसलिए रीसायकल के लिए इसका कोई मूल्य नहीं बचता।

यह प्लास्टिक बायोडिग्रेडेबल नहीं है, यानि की बैक्टीरिया इसे decompose नहीं कर सकते, लेकिन Mealworm नामक कीड़े इसे खाकर अपने पेट में तोड़ देते हैं।

बहुत सारे देस इस प्लास्टिक को बैन भी कर रहे है क्यों की यह हमारे पर्यावरण के लिए काफी नुकसान दायक है।

वनस्पति तेल क्या होता है। Vegetable Oil in Hindi

वनस्पति तेल, बहुत प्रकार की वनस्पतियों के बीज से निकला गया तेल होता है जैसे सोयाबीन का तेल, सूर्यमुखी का तेल, सरसों का तेल, नारियल का तेल।

प्राकृतिक रूप से बनाया गया वनस्पति तेल हमारे स्वास्थ के लिए काफी लाभदायक होता है जैसे की सरसों का तेल, नारियल का तेल , सोयाबीन का तेल वहीं कृत्रिम रूप से बनाया गया हाइड्रोजनेटेड आयल जैसे की डालडा, रिफाइन आयल हमारे स्वास्थ के लिए काफी नुकसानदायक सिद्ध होते है इस आर्टिकल में हम ये पता करेंगे की हाइड्रोजनेटेड आयल, रिफाइन आयल और प्राकृतिक वनस्पति आयल क्या होता है।

नारियल का तेल

नारियल का तेल, नारियल से बनाया जाता है, कोकोनट आयल या नारियल का तेल हम अक्सर बालो में लगाते है लेकिन इसके और भी बहुत सारे उपयोग हैं । नारियल तेल मुख्यतः दो तरह का पाया जा सकता है एक बिना रिफाइन कोकोनट तेल और दूसरा रिफाइन कोकोनट तेल । बिना रिफाइन किया हुआ प्राकृतिक कोकोनट का तेल बहूत ही लाभकारी होता है।

नारियल तेल को हम बालो के साथ साथ त्वचा और शरीर पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं, इस तेल को खाना बनाने में भी इस्तेमाल किया जाता है, यह तेल हमलोगों के लिए बहुत ही लाभकारी सिद्ध हुआ है क्यों की हम इसका इस्तेमाल खाना से लेकर, शरीर के मसाज में भी कर सकते है ।

इस तेल का इस्तेमाल घरेलु साबुन बनाने में भी किया जाता है ।

सूरजमुखी का तेल

सूरज मुखी का तेल उसके बीज से निकला जाता है, इसका तेल खाने में और शरीर के मालिस करने में इस्तेमाल किया जाता है। सूरज मुखी के तेल में विटामिन E काफी मात्रा में पाया जाता है, इस तेल में अधिकतर unsaturated fat पाया जाता है, जो की saturated fat से अच्छा है उनलोगों के लिए जो की दिल की बीमारी से दूर रहना चाहते हैं।
लेकिन इनसब के बावजूद सूरज मुखी तेल के कई नुकसान भी पाए गए है जैसे की आपको सूरज मुखी के तेल का इसतेमाल नही करना चाहिए अगर आप pregnent हैं या अपने बच्चे को दूध पिला रही हों।
जिन लोगो को डायबिटीज है उनको भी सूरज मुखी के तेल का इस्तेमाल नही करना चाहिए क्यों की ये तेल blood के sugar level को बढ़ा देते हैं।

सोयाबीन का तेल

सोयाबीन का तेल सोयाबीन के पौधे के बीज़ से निकला जाता है, सोयाबीन के तेल खाने से कोलेस्ट्रॉल में कमी आती है।

इस तेल का उपयोग काफी किया जाता है क्यों की इसमें पाया जाने वाला फैटी एसिड्स हमारे शरीर के लिए काफी उपयोगी है , १०० ग्राम सोयाबीन के तेल में, १६ ग्राम saturated fat , २३ ग्राम
monounsaturated fat और ५८ polyunsaturated fat पाया जाता है।

जैतून का तेल

जैतून के तेल जैतून के पौधे के फल से निकला जाता है।

जैतून का तेल स्वास्थ के लिए काफी लाभदायक है, इसमें मौजूद omega -3 फैटी एसिड्स हमारे दिल के स्वास्थ के लिए काफी अच्छा है।

इस तेल का प्रयोग खाना बनाने, सौन्दर्य सामग्री, साबुन और दवाइया बनाने में किया जाता है। जैतून का तेल वजन घटाने में सहायक हो सकता है। इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल में कमी आती है। दिल की बीमारियों से दूर रहने के लिए इसका सेवन जरूर करे।

मूंगफली का तेल

बाजार में उपलब्ध वनस्पति तेलों में से एक मूंगफली का तेल भी है, मूंगफली का तेल मूंगफली के दानो से बनाया जाता है, इस तेल का उपयोग खाना बनाने में किया जाता है, इस तेल में काफी मात्रा में polyphenol antioxidants  पाया जाता है, जो हमे कैंसर जैसे खतरनाक बीमारियों से बचाता है।

बादाम का तेल

बादाम का तेल या आलमंड आयल मुख्यतः बालो और त्वचा में निखार लाने में प्रयोग किया जाता है। यह त्वचा को Moisturize  कर के रखता है अगर इसका इस्तेमाल त्वचा पर किया जाये तो।

रूखी त्वचा को ठीक करने में यह काफी मददगार होता है। इसके तेल में विटामिन E और A पाया जाता है जो त्वचा और बालो के लिए कभी लाभदायी है।

कुत्ते जीभ निकालकर जोर-जोर से सांस क्यों लेते हैं?

कुत्ते अक्सर अपना जीभ निकालकर जोर जोर से साँस लेते हैं, ऐसा करने का बहोत से कारण हो सकते है जैसे की कुत्ता खुश है काफी, या बहोत ज्यादा उत्साहित है तब वे ऐसा करते है। लेकिन अगर वे ऐसा बहुत ज्यादा करें तो डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्युकी इसका कारण कुछ और भी हो सकता है जैसे कोई गंभीर बीमारी ।

चलिए आईये हम इस बारे में विस्तार से समझते हैं ।

लू लगना

जी हाँ अगर आपका कुत्ता कुछ ज्यादा ही हांफता है तो हो सकता है उससे लू लग गया हो या फिर वह कोई ज़हरीली पदार्थ खा लिया हो, ऐसे में अच्छा यही होगा की आप उससे तुरंत डॉक्टर को दिखाए।

हार्ट फेलियर

हार्ट फ़ैल सिर्फ इंसानों को ही नही होता बल्कि कुत्तों को भी होता है, उन्हें साँस लेने में तकलीफ़ होती है और इस परेशानी से उबरने के लिए वे तेजी से साँस लेते है।

असहनीय दर्द

कुत्ते तो हमे बोलकर नही बता सकते की उन्हें क्या परेशानी है, लेकिन हमे खुद ही पता लगाना पड़ेगा की कुत्ता किस परेशानी से जूझ रहा है, कुत्ते अपने दर्द को बहुत ही अजीबो ग़रीब तरीके से बयान करते है उनका सामान्य व्यवहार बदल जाता है।

फेफड़े की बीमारी

अगर आपके कुत्ते को फेफड़े की बीमारी है तो उससे साँस लेने में अगर दिक्कत हो रही होगी तो वो ऐसे ही तेजी से साँस लेगा हमेशा।

एनीमिया

जब खून में लाल कोशिकाओं की कमी हो जाती है तब उससे एनीमिया कहते है, लाल रक्त कोशिकाएँ हमारे शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह करती है और अगर इनकी कमी हो जाये तो कुत्ते जल्दी जल्दी साँस लेने की कोशिस करते है।

कुत्तो में जल्दी जल्दी जीभ निकालकर साँस लेना आम बात है और ज्यादा घबराने की जरूरत नही है, लेकिन अगर ये चीज़ अचानक सुरु को जाये और रुके नही तब तो डॉक्टर के पास ले जाना ही सही रहेगा ।

How india will be in 2050

india in 2030

What India will look like in 2050? Here we are going to list some of the points that looks promising.

  1. By the year 2050 India will have completed 2050-1947 = 103 years of Independence from British Raj.
  2. India Economy will be the second largest economy after China, Surpassing USA.
  3. By the year 2050 India’s brain drain problem will completely stop, students from prominent institutes like IIT will no longer go outside India to find jobs.
  4. By that time Indian entrepreneurs, VCs will become more intelligent, risk takers and will invest their money and time in more innovative companies rather than eCommerce and ride sharing.
  5. India will have world class Roads. Indian roads will be quite durable because by that time 90 % of the Indian roads will be made with plastic. These plastic roads will reduce India plastic problems and India will look more clean and green.
  6. India will have more electric car than diesel and petrol car. Indian government has started producing ethanol and by the year 2050, 90% of the vehicle will either run on ethanol or battery. Thus reducing India dependence on oil. Finally India will import less oil from Iran, Saudi Arabia and Venezuela.
  7. Self driving cars will be a normal thing. Self driving technology will have been matured by that time and many Indian companies will adopt this new technology. Special corridors will be made for self driving cars which will have zero road accident record.
  8. India will have a separate highway corridor for self driving trucks that will run at the speed of more than 200 km/h. These self driving trucks will be autonomous and mostly run on solar power and battery.
  9. India will have the largest number of Internet users after China. By that time India will have highest Internet speed in the world. Thanks to JIO Fiber. JIO will be the single largest Internet service provider in India replacing Airtel. Vodafone and Idea will shut down their business.
  10. India’s tourism industry will be larger than the economy of neighboring countries like Sri lanka, Bangladesh, Pakistan, Nepal combined. More and more people will visit India than ever before due to development in infrastructure, safety, cleanliness and culture.
  11. India will have more engineers than the 1/3 of the world combined. Indian engineers will no longer be fascinated to work in Microsoft or Google but they will finally create something new themselves.
  12. By 2050 India will have it’s own Trillion dollar company. This company will be a product company. Indians will be finally able to create product companies due to increase in wealth and influence around the world.
  13. People will get something new called free basics by the government.
  14. Free basics will include house, food, health and education.
  15. By the year 2050 house, food, health, education will become free.
  16. Every individual will get free laptop, smartphone and other electronic gadgets because demand for electronic gadgets will go down so price will become zero.
  17. Companies will give electronic gadgets for free and will make money from advertisement and sponsored apps.
  18. Most of the free electronic gadgets will be shipped by China all over the world. But finally India will give tough competition to these Chinese tech giants due to huge labor power and abundance of good engineers in the country.
  19. Public transport will become more advanced and complex. Many car companies will shut down their business. Only some will survive.
  20. India population will increase till 2030 and will seize by year 2050 due to public awareness and increase in literacy rate. India will touch 90 to 99 percent literacy rate by that time.
  21. Most of the Universities will shut down their business because education will become free and degree won’t matter by that time.
  22. By year 2050 India will be involved in commercial farming and most of these things will be done by Robot farmers which will drastically reduce food price and will make it negligible or you can say free.
  23. People availing free basics will be the new poor people of India.
  24. India will be very powerful country than all of it’s neighbor and their neighbor combined except China.
  25. India’s 100 smart cities plan will be a real thing. By year 2030 India will spend huge money on Smart Cities. Rich people from congested, polluted and crowded cities will move to these smart cities.
  26. Pakistan will finally stop sending terrorists to India due to it’s high-tech borders guarded by Ariel robot snipers, who will conduct surgical strikes almost everyday.
  27. Pakistan will remain a weaker country due to it’s religion obsession over science and technology which will never let Pakistan grow.
  28. Pakistan will face next 30 years of Civil war due to it’s army taking over country and interfering in internal matters of the government and public opinion. Pakistan army will try to overtake Pakistan civil government to establish an army rule in Pakistan.
  29. India will have a stable government because of democracy and citizens awareness and increase in literacy rate.
  30. People will no longer fight for religion, caste and reservation in India.
  31. India will have almost 500 Billionaires with few trillionaires.
  32. Most of the jobs in the country will be taken over by Robots and more than 1/3rd of the population will be jobless with nothing to do but will survive due to free basics given by government.
  33. Only smart jobs will be done by smart humans.
  34. Drone Corridor will be a real thing where drones will replace commercial flights and transport people faster than today without colliding with each other. Drone ports will be fully automated.
  35. By Year 2050 India will also have world’s second largest army with fully automated drone fighters and drone snipers.
  36. People will live in peace and harmony also life span of people will increase due to clean air and cheap treatment of almost all the diseases.
  37. India will have most number of high rise buildings in the world after China, USA
  38. India water interlinking project will be completed by that time and areas of Assam, Bihar, Bengal will no longer face frequent floods.
  39. BJP will be the single largest party in the country and congress will be replaced by some new emerging party.
  40. Finally by year 2050 Indian export will be larger than imports and India will no longer face the problem of trade deficit.
  41. Ecommerce goods will be delivered in 5 mins due to special goods delivery pipeline.
  42. Some of the animals will go extinct and natural disasters like tornado, Thunder Storm,Drought  will be frequent.
  43. Cutting trees, killing animals will put people in Jail.
  44. Hindi will be the new English for Indians.
Disclaimer: Opinion expressed in this article are fully personal and this site does not guarantee accuracy of the above facts. By reading the above article you agree to this disclaimer.
Keywords: india in 2050 essay, india in 2050 article,india by 2050,india 2050 development