कर्करोग ( cancer) क्या है?

कर्करोग ( cancer)  क्या है?       
यह एक प्रकार का बहुत ही खतरनाक एवं जानलेवा बीमारी है जो Myxovirus group   के विषाणु द्वारा होता है| यह किसी भी उम्र में, किसी भी अंग में हो सकता है परंतु 70% बुड्ढे लोग कैंसर से पीड़ित है वैसे 13 वर्ष से कम उम्र के बच्चों मैं भी कैंसर अधिक देखा जाता है  cancer का विस्तृत अध्ययन करना Oncology कहलाता है|

Cancer  प्रायः दो प्रकार के होते हैं|
1.   Bening tumour  :  जब शरीर के किसी हिस्से में अचानक कोशिका मरने लगती है तब वहां मस्सा का निर्माण होता है जिसे Bening tumour कहते हैं यदि यह विकराल रूप धारण कर ले दर्द देने लगे तो इसमें भी कैंसर हो सकता है लेकिन ज्यादातर मस्सा कैंसर नहीं होते हैं|
2. Malignant tumour :  यह एक ऐसा  tumour है जिसमें Malignant कोशिका पाई जाती है इसकी कोशिका खुद मृत्यु होती है और आसपास की कोशिका को भी अपने चपेट में ले लेती हैं इस प्रकार ग्रसित कोशिका द्वारा स्वस्थ कोशिका को भी कैंसर के चपेट में ले लेना Oncogenesis  कहलाता है एक अंग से दूसरे अंगों में cancer फैलना  Metastasis  कहलाता है|

Kinds of Cancer :
वैसे तो cancer अनेकों प्रकार का होता है लेकिन अध्ययन की दृष्टि से कैंसर को निम्नलिखित भागों में बांटा गया है
1 Sarcoma : वैसा कैंसर जो संयोजी उत्तक मैं होता है हड्डी में होता है चर्बी में होता है Sarcoma  कहलाता है इस तरह का कैंसर मात्र 1% होता है
2 Lymphoma : वैसा कैंसर जो लसीका उत्तक में होता है तथा शरीर के अन्य Lymphatic glands मैं होता है Lymphoma कहलाता है |
3 Carcinoma :  वैसा कैंसर जो शरीर के बाहरी भागों में होता है अर्थात त्वचा पर होने वाले सभी प्रकार के कैंसर को Carcinoma  कहा जाता है |
4 Liposa : वसा से संबंध रखने वाले अंग में होने वाले कैंसर को Liposa कहा जाता है Ex- Liver cancer.
5 Leukaemia : Blood cancer का दूसरा नाम Leukaemia है जो ज्यादातर पराबैंगनी किरणों के प्रभाव से होता है |

Etiology : –
1  यदि शरीर के किसी हिस्से में जख्म हो जाए और वह बहुत दिनों तक ठीक ना हो तो पहले Infection और फिर कैंसर में तब्दील हो जाता है|  
2 अत्यधिक मात्रा में मादक पदार्थ जैसे- अफीम, चरस, हीरोइन एवं अन्य धूम्रपान का लगातार सेवन करना कैंसर का कारण हो सकता है, यदि शरीर के अंदर या बाहर ट्यूमर निकल जाए और फिर वह दर्द के साथ बड़ा होते रहे तो कैंसर का खतरा बना रहता है | 
3  अगर ऑपरेशन के समय डॉक्टरों द्वारा साफ सफाई पर ध्यान नहीं दिया गया, पुराने औजारों का इस्तेमाल किया गया, मरीज के द्वारा सही रखरखाव नहीं किया गया तो Infection  या टेटनस के बाद Cancer हो सकता है|

Symptoms : 
1 जिस अंग में कैंसर होता है वहां की आसपास की कोशिकाएं बदबू देने लगती है और लगातार अंगों को क्षति पहुंचाते रहती है|
2  कैंसर की स्थिति में मरीज का रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाता है और व्यक्ति लगातार गंभीर स्थिति से गुजरने लगता है |
3 कैंसर वाले स्थान में कोशिका विभाजन बंद हो जाता है  और  Malignant  कोशिका आसपास की कोशिकाओं को भी क्षति पहुंचाते रहती है |
4 बार बार उल्टी होना, विशेष अंग में दर्द होना एवं शरीर के तापमान बड़ा रहना इसका प्रमुख लक्षण है |

Manegement :
1 किसी व्यक्ति को कैंसर हुआ है कि नहीं इसके लिए सबसे पहले उसका  Biopsy test करा कर संतुष्ट हो लेना चाहिए और यदि कैंसर निकल जाए तो तत्काल कैंसर संस्थान में इलाज करवाना चाहिए |
2 कैंसर के दौरान सभी तरह के धूम्रपान, alcoholic padarth एवं  Drugs का सेवन बंद कर देना चाहिए |
3  Actinomycin एवं Doxorubicin कैंसर वाले मरीज को काफी लाभ पहुंचाते हैं  उपचार के तौर पर सर्जरी Radiotherapy एवं Chemotherapy विधि द्वारा कैंसर के मरीज को ठीक किया जा सकता है अन्यथा उसकी मौत निश्चित है| 

Leave a Comment